Bawasir ka ilaj -Piles Treatment In Hindi

हेलो दोस्तों subkuchhindi.com में आप  सभी का  फिर से  स्वागत हे | दोस्तों आज हम बात करेंगे पाइल्स यानी बवासीर के बारे में इस पोस्ट को आप एंड तक जरूर देखें क्योंकि इस पोस्ट में बताई गई कोई भी बाते आप को मिस नहीं करनी है-

बवासीर क्या हे –

बवासीर एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है, इसमें गुदाद्वार जहां से की मल त्याग ते हैं उस जगह की खून की नली में सूजन आ जाती है वह बड़ी हो जाती हैं इससे गुदा में दर्द और जलन होती है, इसे ही पाइल्स या बवासीर कहते हैं पाइल्स बवासीर दो तरह के होते हैं एक तो खूनी बवासीर और एक बिना खून वाले बवासीर खूनी बवासीर में मल के साथ खून टपक ने लगता है कई बार तो खून की पिचकारी भी छूटने लगती हैं, जिसमें मस्सा फुल कर बाहर भी आ जाता है बिना खून वाले बवासीर में मलद्वार के अंदर ही मस्सा बड़ा हो जाता है, जिससे मलद्वार छोटा हो जाता है और मल त्यागने में

दर्द और जलन होने लगती है ज्यादा जोर लगाने पर मस्सा फट जाता है जिससे ऐसे में जलन और पीड़ा होने लगती है ये बड़ा होकर  फिस्टुला का रूप ले लेता है दोनों तरह के बवासीर अगर बहुत ही ज्यादा बढ़ जाए तो ये  कैंसर का रुप ले लेते हैं जो कि एक जानलेवा बीमारी है जिन लोगों का पेट खराब रहता है हमेशा कब्ज़ बना रहता है उसके कारण मल को त्यागने में जोर लगाना पड़ता है जिसके कारण गुदा की नसों पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ता है, और रगड़ और दबाव के कारण वहां सूजन आ जाती हैं और मस्से बन जाते हैं यानी बवासीर हो जाता है|

बवासीर होने के कारण –

 जो लोग अपने भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियां और रेशेदार चीजे यानी फाइबर नहीं लेते फास्ट फूड खाते हैं उनका मल सुखा हो जाता है और उसे सख्त मल को डालते  समय जोर लगाना पड़ता है जिससे पाइल्स हो जाते हैं|  बहुत से लोग तो दिन भर में पानी ही नहीं पीते हैं या बहुत कम पीते हैं पानी कम पीने से आंतों को नहीं मिलती और उन्हें ही गर्मी बढ़ने लगती है जिससे आंखों में पड़ा हुआ मल सूखने लगता है वह सूखा हुआ मल आंखों में बड़ी मुश्किल से आगे बढ़ता है एंड तक तो पहुंच जाता है लेकिन अपने आप बाहर नहीं निकलता उसके लिए जोर लगाना पड़ता है और नतीजा होता है पाइल्स या बवासीर जो लोग बहुत ज्यादा मिर्च मसाले वाली स्पाइसी जली हुई चीजें बहुत ज्यादा खाते हैं उन लोगों को भी पास हो जाता है बहुत ज्यादा तली हुई चीजें खाने से पाचन तंत्र में ही बहुत ज्यादा बढ़ जाती है| जिससे हाथों में पहुंचने वाला भोजन सूखने लगता है और फिर भी सूखने लगता है यह कब्ज्ज़ पैदा करता है जिससे फिर पाइल्स हो जाते हैं |

जिन लोगों को बवासीर होता है उनको मलद्वार पर खुजली कांटा चुभने जैसा दर्द जलन और सूजन रहने लगती है वह बैठे रहे हैं लेट जाएं किसी भी पोजीशन में आराम नहीं मिलता है दर्द होता ही रहता है|  कई बार तो दर्द इतना असहनीय हो जाता है कि काम से छुट्टी लेनी पड़ती है और पूरे दिन आराम करना पड़ता है जो लोग बवासीर से पीड़ित हैं उनका पेट लगातार खराब रहता है और कब्ज वगैरा की शिकायत रहती है बाबासीर के दर्द के कारण काम में मन नहीं लगता पूरे शरीर में एक बेचैनी सी बनी रहती है दिमाग हमेशा इसी सोच में लगा रहता है| कि ना जाने यह बीमारी कब और कैसे ठीक होगी जिन लोगों को बवासीर है |उनके चेहरे पर खुशी नहीं रहती क्योंकि अंदर से भी वह खुश नहीं होते केवल दर्द ही दर्शन कर रहे होते हैं जिन लोगों को खूनी बवासीर होती है

उनके मल के साथ खून भी निकलता है जो कि टेंशन का कारण बन जाता है क्योंकि ज्यादा खून निकलने पर खून की कमी भी हो सकती है या फिर कैंसर होने का डर सताने लगता है| बवासीर होने पर लोग जब इलाज खोजते हैं एक ही इलाज मिलता है और वह है ऑपरेशन लेकिन ऑपरेशन करवा लेने के बाद भी पाइल्स फिर से हो जाते हैं |इस बीमारी की दवा कहीं नहीं मिलती है तो ऑपरेशन या फिर प्रिकॉशन रखने के लिए कहते हैं| लेकिन दोस्तों मैं आपको बता दूं कि इस बीमारी का इलाज घरेलू नुस्का पॉसिबल है क्योंकि यह पेट के सिस्टम यानी पूरे पाचन तंत्र को पूरी तरह ठीक कर देती है जिससे पाइल्स ठीक हो जाते हैं |

बवासीर का घरेलु उपचार –

आपको पाइल्स बवासीर के लिए बहुत ही सरल घरेलू उपचार एंड में सावधानियां बताने जा रहा हूं,

  •  नींबू बवासीर के लिए एक बहुत ही अच्छी घरेलू दवा है नींबू के रस में सभी तरह के पाइल्स को ठीक करने की ताकत होती है, अब बात यह है कि नींबू का प्रयोग पाइल्स के लिए कैसे किया जाए | इसके लिए नींबू को दूध के साथ लेना चाहिए नींबू को दूर के साथ कैसे लेना है इसका पूरा तरीका मैं आपको बता रहा हूं – आपको सुबह सुबह एक गिलास दूध लेना है| दूध गाय का हो तो बहुत अच्छा है दूध कच्चा भी ले सकते हैं या फिर उबाल कर ठंडा किया वो भी ले सकते हैं  अब आधे नींबू लेकर उसके बीज  निकाल दीजिए और आधे नींबू का पूरा दूध में निचोर दीजिए दूध को नींबू निचोर ही तुरंत पीना चाहिए |आप चाहें तो आधे नींबू का रस अलग से एक कटोरी में निकालकर फिर दूध में मिलाकर भी तुरंत ही सकते हैं| ध्यान रहे नींबू का रस मिलाती दूध फटने से पहले ही पूरे दूध  को पि जाना चाहिए| तभी ये असर करता है|

                                                                             दोस्तों आयुर्वेद के अनुसार नींबू में पाया जाने वाला खास एसिड मल को नर्म करता है, और मलद्वार से संबंधित रोगों और मल त्यागने की क्रिया को ठीक करता है और दूध भी मल को नर्म करता है| यानी मल त्यागने की क्रिया को ठीक करता है इसलिए नींबू और दूध इन दोनों की यह जोड़ी आवासीय के लिए सोने पर सुहागा की तरह है यह प्रयोग आपको रोजाना सुबह सुबह खाली पेट करना चाहिए इसे 7 दिनों तक करना चाहिए और साथ में पोस्ट के एंड में बताई गई सारी सावधानियां रखनी चाहिए |  हमने देखा है कि ऐसा करने 7 दिन में खून और बिना खून वाले दोनों तरह के पाइल्स ठीक हो जाते हैं बवासीर नष्ट हो जाते हैं|

  • जिन लोगों को बवासीर होता है उनके लिए छाछ अमृत, की तरह है आयुर्वेद कहता है कि जिन लोगों को बवासीर होता है वह लोग अगर रोजाना छाछ पीते हैं, तो बवासीर खत्म होकर फिर दोबारा नहीं होता | दोस्तों बाबासीर की इस से अच्छी दवा और क्या हो सकती है आइए अब मैं आपको बताता हूं कि छाछ को कैसे और कब लेना चाहिए, इसके लिए आप 100 मिलीलीटर पानी एक कप छाछ ले लीजिए इसमें आपको अजवाइन का पाउडर मिलाना है , और फिर मिक्सी में पीसकर पाउडर बना लीजिए आजकल तो बाजार में भी अजवाइन का पाउडर बना बनाया मिल जाता है उसे भी काम में ले सकते हैं इसमें आपको एक चौथाई अजवाइन का पाउडर डालना है और साथ में थोड़ा सा काला नमक या सेंधा नमक बवासीर की दवा तैयार हो गई है अब मैं आपको बताता हूं कि से लेना कब है इसको खाना खाने के तुरंत बाद पीना चाहिए सुबह और शाम दोनो टाइम खाना खाने के तुरंत बाद आपको इस को पीना है इससे खाना जब पेट में आतो में हो  जाता है तो अच्छी तरह पता है इस शरीर को खाए हुए भोजन का पूरा रस मिल जाता है दूसरा इससे बड़ी आत में बनने वाला नहीं है और कब नहीं होती आंतों में मल द्वार में और बॉडी में वायु का बहाव पूरी तरह ठीक कर देती है जिससे मैं आसानी से बाहर निकलता है और पाइल्स के मस्से तेजी से ठीक होने लगते हैं दोस्तों यह प्रयोग रोजाना सावधानियों के साथ करने से 1 से 2 हफ्ते के अंदर ही हमने पाइल्स को ठीक होते देखा है और जिन लोगों के पास से ठीक हुए उनको फिर दोबारा पाइल्स नहीं हुआ अगर आपके बहुत ज्यादा बढ़े हुए हैं या खूनी बवासीर है तो आप इसको लगातार लंबे समय तक ले सकते हैं जिससे आपका पूरा पाचन तंत्र अच्छी तरह ठीक हो जाए दोस्तों पाचन तंत्र का ही आखरी हिस्सा मलद्वार है इसलिए छाछ  से पाचन तंत्र यानी डाइजेशन ठीक होने पर पाइल्स ठीक हो जाते हैं |

सावधानियां –

आपको उपचार के साथ-साथ कुछ बहुत जरूरी सावधानियां रखनी होंगी जिनके बिना पाइल्स से छुटकारा नहीं पा सकते हैं- वह सभी सावधानियां अपने आपको बताने जा रहा हूं | पाइल्स दूर करने के लिए फास्ट फूड तली हुई चीजें और तीखी मिर्च मसालेदार चीजों से परहेज करना चाहिए यानी इन को बिल्कुल भी नहीं खाना पीना चाहिए यह पेट में बहुत ज्यादा हिट या अग्नि पैदा करती हैं जिसके कारण पाइल्स होते हैं| दिन भर में 3 से 4 लीटर पानी जरूर पीएं जब तक उपचार कर रहे हैं तब तक बॉडी में पानी की कमी नहीं होने दे, इसमें ध्यान रखें कि खाने के 1 घंटे पहले से लेकर आना खाने के 1 घंटे बाद तक पानी बिलकुल नहीं पीना है| इसके अलावा सभी समय थोड़ा थोड़ा करके पानी पीते रहें इससे बवासीर हो तो फाइबर वाली चीजें खानी चाहिए इसके लिए हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पार्क वगैरा और मौसम में आने वाले सभी फल खाने चाहिए क्योंकि मैं खूब फाइबर फाइबर वाली चीजें खाने से कब्ज नहीं रहता है और आसानी से बाहर निकल जाता है जिससे पाइल्स बहुत जल्दी ठीक हो जाते हैं |

सुबह-शाम कम से कम दो-तीन किलोमीटर तक पैदल घूमना चाहिए अगर आस पास कोई गार्डन हो तो उसमें घूमना और भी अच्छा होता है, इससे बॉडी को पूरी ऑक्सीजन मिल जाती है| जो पाइल्स को बहुत जल्दी ठीक करती है और जब तक उपचार यूज़ करें तब तक योग और प्राणायाम जरूर करें | बवासीर के लिए हलासन सर्वांगासन और भुजंगासन सबसे अच्छे हैं इनको जरूर करें साथ ही कपालभाति प्राणायाम भी जरूर करना चाहिए | ये   उपचार और सावधानियां एक साथ पूरी और अच्छी तरह लगातार यूज करने से हमने देखा है  पाइल्स बहुत तेजी से ठीक होते हैं हमने देखा है कि इन को यूज करके लोगों के चेहरे खुशी से खिल उठते हैं क्योंकि उनके जीवन से कांटो भरा दर्द और बीमारी का डर निकल जाता है वह अपने काम को तू ने जोर से करने लगते हैं क्योंकि अंदर से खुश रहने लगते हैं दिमाग पॉजिटिव कामों में लगने लगता है

तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही अगली पोस्ट  में फिर से मुलाकात होगी दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आप को मेरा यह पोस्ट पसंद आया होगा और आप इस पोस्ट को अपने फेसबुक पर भी शेयर करेंगे ताकि आपकी हेल्प से आपके दोस्तों की भी कई प्रॉब्लम आसानी से सॉल्व  हो जाए  | अगर आप भी किसी बीमारी का घरेलू इलाज जानने के लिए हमें कमेंट में बता सकते हैं हम उसे आप तक जरूर लाएंगे | तो दोस्तों मिलते  हे हमारी अगले पोस्ट पर तब तक के लिए जय हिन्द वन्दे मातरम् |

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!